Processing! Please wait....

उच्च शिक्षा विभाग, उत्तराखण्ड सरकार | Ver.4.0 Rel.13, 09/2021 (Enterprise Edition)
Display Labels In:
Total Titles : 329256
Total Copies : 1226861
Total Members : 4172
Libraries in Cluster : 109
Staff Login
User Code
Password
Enter the code shown above
Forgot Password
Online Users: 3
Help Desk
Email: egranthalaya[at]nic[dot]in
Phone: 011-24305489/24305813
(Mon-Fri / 9.00 AM to 5.30 PM)
Welcome to e-Granthalaya 4.0 About Cluster
e-Granthalaya: A Digital Agenda for Automation and Networking of Government Libraries - is a Digital Platform developed and maintained by National Informatics Centre, Ministry of Electronics and Information Technology, Government of India. Under the platform, NIC Provides Library Management Software with Digital Library Module and Cloud Hosting facility to Government Libraries on request basis. The Software is a Cloud Ready Application; and uses PostgreSQL - an Open Source DBMS as back-end solution. The Software is multi-lingual, UNICODE compliant, provides an online data entry solution and compliance with library standards.

ई-ग्रन्थालय: सरकारी पुस्तकालयों के स्वचालन और नेटवर्किंग के लिए एक डिजिटल एजेंडा - राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा विकसित और बनाए रखा गया एक डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म है। प्लेटफॉर्म के तहत, एनआईसी अनुरोध के आधार पर सरकारी लाइब्रेरी को डिजिटल लाइब्रेरी मॉड्यूल और क्लाउड होस्टिंग सुविधा के साथ लाइब्रेरी प्रबंधन सॉफ्टवेयर प्रदान करता है। सॉफ्टवेयर एक क्लाउड रेडी एप्लीकेशन है; और एक मुक्त स्रोत DBMS - PostgreSQL का उपयोग करता है। सॉफ्टवेयर बहुभाषी है, UNICODE अनुरूप है, लाइब्रेरी मानकों के साथ ऑनलाइन डेटा प्रविष्टि समाधान और अनुपालन प्रदान करता है। Read More....
उत्तराखण्ड राज्य की स्थापना के पश्चात संख्यात्मक दृष्टि से प्रदेश में उच्च शिक्षा का द्रुतगति से विकास हुआ है। वर्तमान में प्रदेश में 36 विश्वविद्यालय, 106 राज्य महाविद्यालय तथा अनेक निजी शिक्षण संस्थान संचालित किये जा रहे हैं । राष्ट्रीय उच्च शिक्षा नीति (1986) के अनुरुप ही उत्तराखण्ड में भी उच्च शिक्षा के विकास में गुणवत्ता, पहुंच, समता, अनुरुपता तथा सुशासन को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान की गई हैं ।

ई-ग्रंथालय का यह क्लस्टर छात्रों और संकायों को विभिन्न ई-लाइब्रेरी सेवाएं प्रदान करने के लिए राज्य में राजकीय महाविद्यालयों के पुस्तकालयों के कम्प्यूटरीकरण के लिए समर्पित है। इस उद्देश्य के लिए एनआईसी, भारत सरकार के सहयोग से ई-ग्रंथालय 4.0 को राज्य के 5 राजकीय विश्वविद्यालयों व 104 राजकीय महाविद्यालयों में लागू किया गया है जो एनआईसी क्लाउड में होस्ट किया गया है और इसका उपयोग ऑनलाइन डेटा प्रविष्टि और संचालन के लिए किया जाता है। यह क्लस्टर MOPAC - Mobile Responsive OPAC और e-Granthalaya Mobile App का उपयोग करके पुस्तकालय सदस्यों को सार्वजनिक डोमेन और डिजिटल लाइब्रेरी सेवाओं में ई-कैटलॉग की सुविधा प्रदान करता है।


This Cluster of e-Granthalaya is dedicated to computerization of Government Colleges in the state in order to provide various e-Library services to the students and faculties. For this purpose, e-Granthalaya 4.0 from NIC has been implemented in all government colleges in the state which is hosted in NIC Cloud and is utilized LIVE for online data entry and circulation. This cluster provides access of e-Catalog in public domain and Digital Library services to library members using MOPAC - Mobile Responsive OPAC and e-Granthalaya Mobile App.

The Application has been designed, developed by National Informatics Centre, Government of India and hosted in NIC National Cloud. The site is best viewed in 1024 x 768 screen resolution.
X